जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मदन पाल सिंह ने जजी परिसर में संविधान दिवस के अवसर पर कराई शपथ ग्रहण।

सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्रीमती नीलू मैनवाल की अध्यक्षता में गंगा कार्तिक मेले में विधिक जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन।
बिजनौर। राष्ट्रीय एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के दिशा-निर्देशों के अनुपालन में 26 नवम्बर 2023 को संविधान दिवस के अवसर पर जजी परिसर बिजनौर में जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बिजनौर मदन पाल सिंह की अध्यक्षता में भारतीय संविधान की प्रस्तावना का पाठन न्यायिक अधिकारीगण एवं कर्मचारीगण के साथ किया गया। इस मौके पर जनपद न्यायाधीश द्वारा जानकारी दी गई कि न्यायपालिका पूर्ण रूप से हमारे संविधान पर आधारित है और हम सभी न्यायिक अधिकारीगण एवं कर्मचारीगण न्यायपालिका का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, जिस कारण भारतीय संविधान की गरिमा को बनाये रखना हमारा परम कर्तव्य है। न्यायपालिका की यह पूर्ण जिम्मेदारी है कि प्रत्येक पक्षकार को बिना किसी भेदभाव के न्याय मिले और उनके वादों/प्रकरणों का निस्तारण ससमय किया जाए। जजी परिसर, बिजनौर के अतिरिक्त बाह्य न्यायालय- नगीना, चांदपुर व नजीबाबाद में भी जनपद न्यायाधीश के आदेश के अनुक्रम में प्रस्तावना का पाठन किया गया। साथ ही जनपद बिजनौर की समस्त तहसीलों- सदर बिजनौर, चांदपुर, धामपुर, नगीना व नजीबाबाद में भी प्रस्तावना का पाठन किया गया।। उपरोक्त कार्यक्रम के पश्चात् अपर जनपद न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्रीमती नीलू मैनवाल की अध्यक्षता में विदुर कुटी, बिजनौर में गंगा स्नान के अवसर पर आयोजित मेले में एक विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। जिसका संचालन चीफ लीगल एड डिफेन्स काउन्सिल प्रवीण देशवाल द्वारा किया गया। उक्त शिविर में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्रीमती नीलू मैनवाल द्वारा श्रोताओं को भारतीय संविधान और उसके महत्व के बारे में जानकारी दी। साथ ही दिनांक 09 दिसंबर, 2023 को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत के बारे में जानकारी देते हुए बताया गया कि किस प्रकार आपसी सुलह-समझौते के आधार पर पक्षकार अपने वाद को निपटा सकते हैं, न्यायालयों में लम्बित वाद व प्री-लिटिगेशन स्तर के वैवाहिक वाद, बैंक ऋण वाद, दूरसंचार विभाग के वाद, रिवेन्यू वाद आदि को आपसी सहमति से लोक अदालत में निपटाया जा सकता है। इसके अलावा मध्यस्थता, निशुल्क विधिक सहायता, पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना एवं राष्ट्रीय व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा चलायी जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बारे में सचिव द्वारा अवगत कराया गया। कार्यक्रम का आयोजन सफल रहा एवं आम जनता द्वारा बढ-चढ़कर प्रतिभाग किया गया। कार्यक्रम के पश्चात् सचिव द्वारा उक्त आयोजित मेले में एक लीगल एड क्लीनिक (विधिक सहायता के लिए), का भी उद्घाटन किया गया एवं लोक अदालत के प्रचार-प्रसार के लिए पैम्फ्लेट भी बटवाये गये।
Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *