डकैती, दरिंदगी, चीखती महिला, सिगरेट से दागा महिला व उसके प्रेमी ने रची फिल्मी कहानी।

महिला ने प्रेमी मित्र के साथ मिलकर परिजनों के साथ ही पुलिस को भी बेवकूफ बनाने की रची साजिश।

महिला ने प्रेमी मित्र के साथ मिलकर अपने पति व ससुराल जनों को बेवकूफ तो बनाया ही लिया था, साथ ही उसने बिजनौर पुलिस को भी बेवकूफ बनाने की भरपूर कोशिश करते हुए एक मनगढ़त कहानी बना डाली। किंतु तेजर्रार पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार जादौन व पुलिस क्षेत्राधिकारी नगीना संग्राम सिंह ने घटना की हर पहलू से जांच करते हुए कुछ ही समय में घटना का खुलासा कर महिला के प्रेमी पुष्पेंद्र चौधरी को लूट के समान सहित गिरफ्तार कर घटना का 24 घंटे के भीतर ही खुलासा कर दिया।

लूट, डकैती, सामूहिक दुष्कर्म की घटना से बिजनौर पुलिस में मच गया था हड़कंप।

नगीना देहात के रायपुर में एक महिला के घर में घुसकर लूट, डकैती व दुष्कर्म जैसी घटना होने की सूचना से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। आनन फानन में एसपी नीरज कुमार जादौन, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राम अर्ज घटनास्थल पर पहुंचे। जहां उन्होंने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद पुलिस को शीघ्र ही घटना का खुलासा करने के दिशा निर्देश दिये। वही सर्विलांस, फॉरेंसिक टीम ने भी घटना स्थल से साक्ष्य जुटाए।

एसपी नीरज कुमार जादौन ने लापरवाह थानाध्यक्ष को किया लाइन हाजिर।

एसपी नीरज कुमार जादौन ने थाना नगीना देहात के रायपुर पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात कर घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण करने के साथ ही पुलिस को शीघ्र ही घटना का खुलासा करने के दिशा निर्देश देते हुए घटना के संबंध में लापरवाही बरतने पर थानाध्यक्ष विकास कुमार को लाइन हाजिर कर दिया।

मुरादाबाद डीआईजी मुनिराज जी ने भी घटनास्थल का किया निरीक्षण।

लूट डकैती सामूहिक दुष्कर्म की गंभीर घटना को देखते हुए मुरादाबाद डीआईजी मुनिराज जी ने भी थाना नगीना देहात के रायपुर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद पीड़ित परिवार से वार्ता की, साथ ही एसपी नीरज कुमार जादौन, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राम अर्ज, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगीना संग्राम सिंह से पूरी घटना की जानकारी हासिल करने के साथ ही पुलिस को कई बिंदुओं पर काम करने व घटना का खुलासा करने के दिशा निर्देश दिए।

 

एसपी ने घटना के खुलासे के लिए तीन टीमों का किया था गठन। पुलिस ने 24 घंटे में किया घटना का खुलासा।

एसपी नीरज कुमार जादौन ने लूट, डकैती, दुष्कर्म जैसी घटना की गंभीरता को देखते हुए घटनास्थल का निरीक्षण करने के साथ ही घटना का खुलासा करने के लिए पुलिस की तीन टीमों का गठन किया था। एसपी नीरज कुमार जादौन ने बताया 15 नवंबर को लगभग 8:30 बजे पीड़िता के पति द्वारा फोन पर सूचना देते हुए बताया गया कि 14 नवंबर को शाम लगभग 7:00 बजे तो व्यक्तियों द्वारा पड़ोसी की छत से मेरी छत पर आकर मेरी पत्नी को कुछ नशीला पदार्थ सुंघा दिया गया। जिससे वह अचेत हो गई अज्ञात बदमाशों द्वारा घर से ज्वेलरी, स्कूटी, एलईडी सभी सामान ले गए। बाद में लगभग 1:00 बजे दिन में पीड़ित द्वारा थाने पर तहरीर दी गई की चार-पांच अज्ञात व्यक्तियों द्वारा पड़ोसी की छत से मेरे घर में प्रवेश किया तथा मेरी पत्नी को नशीला पदार्थ सुंघाकर बेहोश करते हुए घर में लूटपाट की पत्नी के साथ दुष्कर्म भी किया गया। तहरीर का आधार पर पुलिस ने मु0अ0सं0 231/23 धारा 328,395,376डी 342 में मुकदमा पंजीकृत कर लिया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि काफी प्रयास के बाद 24 घंटे के अंदर ही इस सनसनीखे जघन्य घटना का सफल खुलासा किया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पीड़िता का एक व्यक्ति से 10 12 वर्षों से मित्रता थी। पीड़िता व उसके मित्र पुष्पेंद्र ने मिलकर घटना की है। पीड़िता द्वारा स्वयं उसके मित्र पुष्पेंद्र पुत्र राजपाल निवासी चितावर थाना किरतपुर जिला बिजनौर हाल पता आदर्श नगर थाना कोतवाली शहर जिला बिजनौर को घर बुलाया गया। घर से सभी लोग रिश्तेदारी में धामपुर गए थे। घर में पीड़ित अकेली थी पूरी तरह अपने मित्र पुष्पेंद्र को सभी सामान दे दिया है। जो वहां से सामान लेकर चला गया अभियुक्त पुष्पेंद्र ने पूछताछ में दिनांक 14 नवंबर को संयोजित योजना में अपनी महिला मित्र के साथ घटना करना स्वीकार किया है, तथा अभियुक्त पुष्पेंद्र द्वारा यह भी बताया गया कि महिला मित्र को जो चोट है उसके शरीर पर संयोजित तरीके से स्वयं बनाए गए हैं। अब तक की जांच में बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई है विवेचना में लूट का सामान भी बरामद कर लिया गया है।

इस सनसनीखेज घटना का खुलासा करने वाली टीम में।

सर्विलांस टीम प्रभारी तेजपाल सिंह, अरुण कुमार, विशाल चिकारा, मोनू, दीपक जावला, सुजीत, योगेंद्र कुमार शामिल रहे।

वहीं स्वाट टीम प्रभारी उपनिरीक्षक शौकत अली, राजकुमार नागर, दीपक तोमर, मोहित कुमार, गौरव तोमर, हरेंद्र कुमार, अभिषेक कुमार शामिल रहे।

थाना नगीना देहात टीम में थानाध्यक्ष हम्बीर सिंह, उपनिरीक्षक विकास कुमार, वरिष्ठ उपनिरीक्षक श्रीपाल सिंह, उपनिरीक्षक नरेश कुमार, उपनिरीक्षक जयवीर सिंह थानाध्यक्ष कोतवाली देहात, सचिन मलिक, सौरभ कुमार, अमित कुमार, रविंद्र कुमार, आशीष धामा, सोहनवीर, अमित कुमार शामिल रहे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *