शिवालाकला पुलिस ने शाहजहां हत्या कांड का किया खुलासा, प्रेमी तसलीम ने की थी शाहजहां की हत्या।

आरिफ खान बिजनौर

बिजनौर। जनपद बिजनौर के थाना शिवालाकला के अंतर्गत आने वाले ग्राम मालवा निवासी शाहजहां की 01 नवंबर को अज्ञात हमलावर ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने अज्ञात हत्यारे के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी थी। पुलिस द्वारा की गई विवेचनात्मक कार्रवाई के दौरान शाहजहां के प्रेमी तसलीम का नाम सामने आने पर पुलिस ने पूछताछ के लिये उसे हिरासत में ले कर घटना का खुलासा कर दिया।
थाना शिवाला कला के अंतर्गत आने वाले ग्राम मालवा की रहने वाली शाहजहां 01 नवंबर को पशुओं के लिए चारा लेने जंगल गई थी। उसके वापस न लौटने पर इसरार पुत्र भूरे शाह ने थाने पर उसकी गुमशुदी दर्ज कराई। पुलिस व परिजनों द्वारा शाहजहां 45 वर्ष को तलाश करने पर उसका शव जंगल में पड़ा मिला।
पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार जादौन ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद थाना शिवाला कला पुलिस व स्वाट सर्विलांस टीम को जल्द से जल्द घटना का खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार करने के दिशा निर्देश दिए। पुलिस द्वारा की गई विवेचनात्मक कार्रवाई के दौरान अभियोग में अभियुक्त गण तसलीम पुत्र नसीम, खातून पत्नी नसीम, नन्ही पत्नी तसलीम के नाम प्रकाश में आये।

पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार जादौन के दिशा निर्देश पर पुलिस ने घटना का शीघ्र किया खुलासा।

 

पुलिस ने 07 नवंबर को घटना का खुलासा करते हुए घटना में शामिल अभियुक्तगण तसलीम पुत्र नसीम, तसलीम की पत्नी नन्ही, तसलीम की मां खातून पत्नी नसीम को गिरफ्तार कर लिया।अभियुक्तों की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त एक तमंचा 315 बोर दो खाली व तीन जिंदा कारतूस एवं घटना में प्रयुक्त एक मोबाइल वीवो कंपनी का बरामद किया। इसके अलावा अभियुक्त तसलीम के कब्जे से भी एक अन्य तमंचा 12 बोर दो जिंदा कारतूस भी पुलिस ने बरामद किये। अभियोग में धारा 201/120 भी व धारा 325/27/35 आयुष्ध अधिनियम की वृद्धि की गई। पुलिस द्वारा की गयी

पत्नी मां को खुश करने के लिए तसलीम ने रची शाहजहां की हत्या की कहानी।
पूछताछ में अभियुक्त तसलीम ने बताया कि मेरा शाहजहां से करीब 05 से 06 वर्ष से प्रेम प्रसंग था।इस बात की जानकारी होने पर घर वालों ने मेरा निकाह नन्ही से कर दिया। लेकिन मैं नन्ही से ज्यादा शाहजहां को प्यार करता था। नन्ही को मेरे शाहजहां से प्रेम प्रसंग का पता चलने पर घर में विवाद हो गया। मेरे व नन्ही के बीच तलाक की नौबत आ गई। इसी कारण मैं अपनी पत्नी को संतुष्ट करने के लिए अपनी मां व अपनी पत्नी के साथ मिलकर शाहजहां को ठिकाने लगाने की योजना बनाई ताकि मेरा घर बर्बाद ना हो। मैने 01 नवंबर को योजना अनुसार शाहजहां को फोन करके खेत पर मिलने के लिये बुला लिया। जहां तमंचे से सीने में गोली मार कर शाहजहां की हत्या कर दी तथा घटना में प्रयुक्त तमंचा अपनी पत्नी व मां को देकर बेंगलुरु चला गया।

शाहजहां हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम में। थाना अध्यक्ष दीपक कुमार, उपनिरीक्षक तेजपाल सिंह, उपनिरीक्षक अजय कुमार, कांस्टेबल मोनू कुमार, नीरज पवार, विष्णु शर्मा, अमित सहगल, महिला सिपाही धीरू देवी शामिल रही।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *